शुद्ध पानी पीने के 8 फायदे – Top 8 Benefits Of Drinking Purified Water in Hindi

शुद्ध पानी पीने के 8 फायदे – 8 Benefits Of Drinking Purified Water in Hindi


यह हम सभी जानते हैं कि जल जीवन के लिए बहुत ही आवश्यक घटक है, क्योंकि जीवन के सभी रूप जल पर ही निर्भर करते हैं। वास्तव में, पानी एक अमूल्य शक्ति है। जिसकी आवश्यकता सभी जीवित चीजों को जीवित रहने के लिए होती है।

हम मनुष्यों के लिए, विशेष रूप से, पानी काफी आवश्यक है क्योंकि यह मौलिक विलायक के रूप में कार्य करता है जो कोशिकाओं को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों जैसे पदार्थों को शरीर के सभी भाग में पहुंचने और और उनके उपयोग में मदद करता है।

जब बात पीने के पानी की है तो अशुद्धि रहित स्वस्थ और निर्मल जल ही सर्वश्रेष्ठ है। और हममें हर किसी को शुद्ध पानी पीने का अधिकार है। वास्तव में, यह मौलिक मानवाधिकारों में से एक है।

धरती पर लगभग 70 फीसदी पानी मौजूद होने के बावजूद भी आज दुनिया के कई देशों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध नहीं है। बढ़ते औद्योगिक विकास और प्रदूषण की वजह से पीने का पानी दूषित हो चला है।

अच्छी खबर यह है कि आप इस समस्या को व्यक्तिगत स्तर पर हल कर सकते हैं। आखिरकार, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपका नल का पानी आपके स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित है अथवा नहीं। इसलिए, यह आवश्यक है कि आप शुद्धिकरण की तलाश करें।

शुद्ध पानी पीने के 7 फायदे – 8 Benefits Of Drinking Purified Water in Hindi

इस लेख में, हम आपके साथ शुद्ध पानी पीने के कुछ महत्वपूर्ण लाभ की जानकारी शेयर कर रहे हैं, अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें।

1. मानव शरीर 80% पानी है

पानी मानव शरीर का 80% हिस्सा बनाता है। इसलिए, यह आपके स्वास्थ्य और Overall Well-being के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, ये प्यूरीफायर सुनिश्चित करते हैं कि आप हमेशा शुद्ध पानी पिएं। वास्तव में, ये उपकरण आपके मित्र हैं और आपके जीवन और आपके परिवार के जीवन की रक्षा करते हैं।

2. बोतलबंद पानी का एक अच्छा विकल्प

बोतलबंद पानी पर्यावरण के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि लाखों प्लास्टिक की बोतलें लैंडफिल में खत्म हो जाती हैं। इसके अलावा इन बोतलों के परिवहन से कार्बन उत्सर्जन होता है।

इसलिए, अगर आपके घर में प्यूरिफायर है, तो आपको बोतलबंद यूनिट खरीदने की जरूरत नहीं है। इस तरह आप पर्यावरण की रक्षा कर सकते हैं।

3. एल्युमीनियम से होने वाले नुकसान से सुरक्षा

एल्युमीनियम अल्जाइमर रोग से जुड़ा है। शोध अध्ययनों के अनुसार, यदि एल्युमीनियम आपके मस्तिष्क में प्रवेश कर जाता है, तो इसे बाहर निकालना बेहद मुश्किल होगा। इसलिए जरूरी है कि आप अपने दिमाग को एल्युमीनियम से होने वाले नुकसान से बचाएं।

4. पैसे की बचत

आप अपने या अपने परिवार के सदस्यों के लिए कितनी बार बोतलबंद पानी खरीदते हैं? बेशक, हम सभी इन बोतलों को रोजाना खरीदते हैं। इसलिए, यदि आप इस दृष्टिकोण से बचना चाहते हैं, तो हमारा सुझाव है कि आप एक प्रभावी शुद्धिकरण प्रणाली स्थापित करें। आखिरकार, आप अपनी मेहनत की कमाई को किसी ऐसी चीज पर बर्बाद नहीं करना चाहते जो आपको अपने घर पर मिल सके।

5. क्लोरीन की खपत से बचना

यदि आप शहर के पानी का उपयोग कर रहे हैं, तो जान लें कि नगर निगम के उपचार संयंत्र बैक्टीरिया जैसे हानिकारक जीवों को खत्म करने के लिए क्लोरीन का उपयोग करते हैं। इसके अलावा, क्लोरीन एक ऐसा तत्व है जो विभिन्न प्रकार के कैंसर, हृदय रोग और श्वसन का कारण बन सकता है।

6. हानिकारक तत्वों से सुरक्षा

आपके नल का पानी लंबी पाइपलाइनों से होकर गुजरता है जो विभिन्न प्रकार के तत्वों से भरी होती हैं, जैसे कि कीचड़। इसलिए, पानी की गुणवत्ता में काफी गिरावट आती है। इसलिए, नल के पानी को शुद्ध करने और हानिकारक तत्वों से सुरक्षित रहने के लिए प्यूरिफायर लगाना आवश्यक है।

7. शुद्ध पानी तक तत्काल पहुंच

यदि आप एक अच्छा शोधक स्थापित करते हैं, तो आपके पास ताजे पानी तक तुरंत पहुंच होती है। छना हुआ तरल सभी प्रकार के कीटाणुओं और जीवाणुओं से मुक्त होता है। आप अपने फलों और सब्जियों को पीने और धोने के लिए भरपूर मात्रा में तरल का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही, ये उपकरण आपको कई उद्देश्यों के लिए अपने पानी का उपयोग करने की अनुमति देंगे।

संक्षेप में, शुद्ध पानी (Purified Water) पीने के ये कुछ लाभ हैं। अगर आप शुद्ध पीना चाहते हैं, तो आप अपने घर में वाटर प्यूरीफायर लगा सकते हैं।

8. शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है

शरीर के नियमित हाइड्रेशन से शरीर में पाए जाने वाले विषाक्त पदार्थ जैसे लैक्टिक एसिड व अन्य के निर्माण से शरीर को प्राकृतिक रूप से डिटॉक्सीफाई करने में मदद मिलती है। स्वस्थ व सुरक्षित पानी की पर्याप्त मात्रा किडनी को सुचारू रूप से काम करने में मदद करती है। जिससे यह सुनिश्चित होता है की शरीर सभी महत्वपूर्ण प्रणाली ठीक ढंग से काम कर रही हैं।

और पढ़ें: 

Leave a Comment