डिस्ट्रक्शन से कैसे बचें? 8 आसान तरीके – How to Avoid Distractions in Hindi

डिस्ट्रक्शन से कैसे बचें? 8 तरीके – How to Avoid Distractions in Hindi

लाइफ में कुछ बड़ा अचीव करने या खुद को एक कामयाब इंसान बनाने के लिए आपको सभी तरह के डिस्ट्रक्शन को अवॉइड करके उस एक चीज पर फोकस करना आना ही चाहिए, जो आप हासिल करना चाहते हैं।

दोस्तों! आजकल एक कॉमन समस्या जो लोगों को अक्सर परेशान करती है, वह है “फोकस में कमीं” और इसका एक प्रमुख कारण Distraction है।

अक्सर स्टूडेंट्स और ऑफिस के लोग यह शिकायत करते हैं कि उनके पास करने को तो बहुत कुछ होता है लेकिन डिस्ट्रक्शन की वजह से उनका ढेर सारा टाइम सोशल मीडिया पर या यूँ ही बेकार की बातों में चला जाता है।

आज के दौर में डिस्ट्रक्शन वर्ड इतना कॉमन हो गया है कि इसे हमारी पर्सनालिटी का एक पार्ट कहें तो गलत नहीं होगा। यह न केवल आपके बहुमूल्य टाइम को वेस्ट करता है, आपकी प्रोडक्टिविटी कम करता है, बल्कि डिस्ट्रक्शन आपकी परफॉर्मेंस पर भी असर डालता है।

डिस्ट्रक्शन से कैसे बचें? 8 आसान तरीके – How to Avoid Distractions in Hindi

अब सवाल यह है कि आखिर डिस्ट्रक्शन से कैसे बचें? या डिस्ट्रक्शन को दूर कैसे करें? तो आपकी तलास अब खत्म हुई, Distraction से बचने में आपकी मदद के लिए यह आर्टिकल प्रस्तुत है।

दोस्तों यदि आप वाकई में डिस्ट्रक्शन से बचना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत पूरा पढ़ें। क्योंकि डिस्ट्रक्शन से बचने के लिए बताई गई 10 तकनीक सचमुच आपके काम आ सकती है। तो आइए जानते हैं।

डिस्ट्रैक्शन क्या है? – What is Distraction

सामान्य भाषा में कहें तो डिस्ट्रक्शन का मतलब है कि आप जिस टास्क पर अपना ध्यान लगाएं हुए हैं उससे हटकर आपका ध्यान किसी दूसरी चीज पर लग जाना या अथवा उस कार्य पर ध्यान देने से रोकना, ध्यान भंग होना ही डिस्ट्रक्शन है। यह Internal या External जैसे शोर की वजह से, थकान या मानसिक तनाव किसी भी वजह से हो सकता है।

डिस्ट्रैक्शन का कारण – Why we get Distracted

यदि आप सोचते हैं कि डिस्ट्रक्शन सिर्फ सोशल मीडिया, शोर, मोबाइल नोटिफिकेशन, या अन्य बाहरी कारणों से ही होता है तो आप गलत है।

Distraction या भटकाव आपके मन के विचारों से भी होता है। यह इंटरनल या एक्सटर्नल दोनों तरीके से हो सकता है।

1. External कारण जैसे- विजुअल ट्रिगर, सोशल इंटरेक्शन, लोगों की बातचीत, संगीत, फोन कॉल्स या मैसेज से आप डिस्ट्रैक्ट होते हैं।

2. वहीं Internal कारणों में थकान, भूख, बीमारी, तनाव, चिंता या दिवा स्वप्न देखना आदि शामिल हैं।

3. अक्सर डिस्ट्रक्शन का कारण ज्यादा काम कम्पलीट करने प्रेशर होता है। यह मोटिवेशन की कमीं के कारण भी होता है।

4. आपके मन में उठ रहे विचार जैसे- दोस्त के घर की पार्टी, नई मूवी देखना है, दोस्त Instagram पर फ़ोटो डाला है, गर्लफ्रैंड का बर्थडे आने वाला है, आदि मन के भटकाव के कारण हैं।

5. फिजिकल और मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम जैसे थकान, शरीर में दर्द, तनाव, ओवर थिंकिंग भी डिस्ट्रक्शन का बड़ा कारण हैं।

6. कम टाइम में ज्यादा काम करने का प्रेशर (मल्टीटास्किंग) भी आपको डिस्ट्रैक्ट करता है।

7. यदि आपको वह काम पसंद नहीं है जो आप कर रहे हैं तो आप उसे करने में बोरियत महसूस करते हैं और बार-बार फ़ोन चेक करते हैं या अपना ध्यान कहीं और ले जाते हैं।

8. अनक्लियर Goal या उस कार्य के प्रति इच्छा में कमीं के कारण भी डिस्ट्रक्शन होता है।

डिस्ट्रैक्शन से कैसे बचें? – How to Avoid Distractions in Hindi

यहां डिस्ट्रैक्शन से बचने (Avoid Distractions) के 8 बेस्ट तकनीक बताई गई हैं, जिनके जरिये आप सभी प्रकार के डिस्ट्रैक्शन से बच सकते हैं। और अपनी प्रोडक्टिविटी को इम्प्रूव कर सकते हैं।

1. कल क्या करना है इसकी प्लानिंग आज ही कर लें।

रात को सोने से पूर्व अगले दिन की योजना तैयार कर लेने से आपको अपने दिन के लिए एक उचित डाइरेक्शन मिल जाता है।

इसके लिए आप अपने To do List में 2 या 3 मोस्ट इम्पोर्टेन्ट कार्यो को शेड्यूल कर लें। यह वह टास्क होंगे जो अगले दिन किसी भी हालत में पुरे करने हैं।

और सुनिश्चित करें कि इन कार्यों को दिन के सबसे प्रोडक्टिव पीरियड में ही खत्म कर लेने के बाद दूसरे कामों को प्राथमिकता देंगे।

खुद से वादा करें कि Most Important Task के Complete होने के बाद ही सोशल मीडिया इस्तेमाल करेंगे या दोस्तों के साथ गपशप में जाएंगे।

2. काम करने के लिए डिस्ट्रैक्शन फ्री जोन बनाएं।

ऑफिस में काम करते समय “Do not Disturb” का टैग लगा दें। अथवा यदि आप पढ़ाई करते हैं या वर्क फ्रॉम होम करते हैं तो काम करने के लिए एकांत स्थान चुने। जहां से आप चिंता मुक्त होकर काम कर सकें।

वास्तव में डिस्ट्रक्शन की वजह से आपका ढेर सारा टाइम खराब होता है और आप फोकस्ड भी नहीं रह पाते हैं, ऐसे में आपकी प्रोडक्टिवटी बहुत कम हो जाती है।

यदि आप पढ़ाई कर रहे हैं तो अपने सभी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को अपने से दूर कर दें। और सभी नोटिफिकेशन को भी ऑफ कर दें।

3. मल्टीटास्किंग करने की आदत को अलविदा कहें।

अगर आप उनमें से हैं जो सोचते हैं कि मल्टीटास्किंग करके वे ज्यादा काम कर लेते हैं तो आप गलत हैं।

वास्तव में मल्टीटास्किंग आपकी प्रोडक्टिवटी को बढ़ाता नहीं बल्कि कम कर देता है। यह आपको डिस्ट्रैक्ट भी करता है।

कई अध्ययन यह बताते हैं कि दुनिया के लगभग 2% लोग ही मल्टीटास्किंग करने में सक्षम हैं। आप उनमें से एक हो ऐसा होने का चांस लगभग न के बराबर है।

अतः समझदारी इसी में है आप एक वक्त में एक ही काम करें और फुल फोकस के साथ उसे कम्पलीट कर  लें।

4. मेडिटेशन की आदत बनाएं।

आप काम करने के लिए बैठते हैं, उसके कुछ ही पल में आपके मन में अनचाहे विचारों के बादल मंडराने लगते हैं। जो आपके ध्यान को काम से हटाकर एक अलग ही दुनिया में लेके चले जाते हैं।

इन विचारों के बादल से छुटकारा पाना जरूरी है अन्यथा आप बार-बार डिस्ट्रैक्ट होते रहेंगे। इस काम में मेडिटेशन आपकी मदद कर सकता है।

फोकस बढ़ाने और डिस्ट्रक्शन दूर करने के लिए मेडिटेशन बेस्ट ऑप्शन में से एक है। इससे आपका मन शांत होता है।

यदि आप रेगुलर प्रैक्टिस करते हैं तो कुछ समय में आप अपने अनचाहे विचारों पर भी नियंत्रण पाने लगते हैं।

दिन की शुरुआत में 5 से 10 मिनट के लिए मेडिटेशन करने का अभ्यास करें। ध्यान रहें, जल्दबाजी करने से बचें, धैर्य से काम लें।

5. बड़े टास्क या Goal को छोटे टास्क में तोड़कर काम करें।

बड़े और टाइम टेकिंग टास्क पर काम करना थोड़ा मुश्किल होता है। क्योंकि आप एक ही काम को देर तक करते हुए आप जल्दी ही बोर हो जाते हैं, और उसे बीच में छोड़ कर कब सोशल मीडिया पर Scrawling करने लगते हैं आपको पता भी नहीं चलता।

इसलिए बड़े काम को एक साथ करने की बजाय उसे कई छोटे-छोटे Goals में Divide कर लें, और एक-एक कर सभी पार्ट्स को पूरा करते जाएं।

जैसे-जैसे आप हर एक टास्क को कम्पलीट करते जाएंगे, वैसे ही आपका मोटिवेशन लेवल बढ़ता जाएगा।

हर एक टास्क को पूरा करने के बदले में आप खुद को मनपसंद रिवॉर्ड भी दे सकते हैं। जो आपके काम को और भी मजेदार बनाएगा।

6. एन्ड रिजल्ट को ध्यान में रखें।

यदि आप एन्ड रिजल्ट को ध्यान में रखते हुए काम करते हैं तो उसके पूरा होने की संभावना अधिक होता है। यह किसी भी काम की अच्छी शुरुआत और फोकस बनाये रखने के लिए मजबूत आधार की तरह होता है।

सर्वप्रथम सुनिश्चित करें कि आखिर क्यों आपको अपने काम पर फोकस करने की आवश्यकता है।

अपने Ultimate Goal को Decide करने से आपको फोकस करने की कला सीखने में मदद मिलेगी। इससे आपको सबसे मुश्किल Situation में भी लक्ष्य पर फोकस बनाये रखने की प्रेरणा मिलेगी।

7. मुश्किल कामों में उलझे नहीं, आगे बढ़े।

ऑफिस के काम या पढ़ाई करते हुए यदि आप किसी ऐसे टास्क या सवालों में फंस जाएं जो अभी के लिए सॉल्व करना मुश्किल हो, तो उसे बाद में करने के लिए छोड़कर अन्य सवालों को हल करें।

उसी एक सवाल के चक्कर में उलझ कर अपने बहुमूल्य समय और अपने मूड को खराब न करें। इसकी बजाय आप अन्य टास्क को पूरा करने पर ध्यान दें। पिछले टास्क को ऐसे टाइम में करने के लिए शेड्यूल कर दें जब आप फ़्री हो अथवा जब आपका माइंड पूरी तरह फ्रेश हो।

8. आत्म- अनुशासित रहें।

अनुशासन के बिना कुछ भी संभव नहीं है। यही वह कारक है जो आपको आपके काम पर रोक कर रखेगा। आपके लक्ष्य को अचीव करने में आपकी मदद करेगा। सेल्फ डिसिप्लिन की आदत सभी के लिए उपयोगी है। चाहे आप एक छात्र हों या ऑफिस में काम करते हैं।

यदि आप Disciplined हैं तो आपको कोई भी भटकाव अपनी ओर आकर्षित नहीं कर सकता। फिर चाहे वह फ़ोन का नोटिफिकेशन हो, दोस्तों की गपशप, गर्लफ्रैंड का बर्थडे या अन्य भटकाव जो आपको परेशान करता है।

बावजूद इसके अगर आप खुद को अपने काम से हट कर सोशल मीडिया पर या अन्य गतिविधियों में व्यस्त पाएं, जो आपके Goal से Related नही है तो खुद से पूछें “मैं जो कर रहा हूँ क्या वह मुझे मेरे लक्ष्य के करीब लेकर जाएगा” अगर जवाब “ना” में हो तो इसे तुरंत बंद कर दें। और वह करें जो आपको आपके लक्ष्य के करीब ले जाएं।

डिस्ट्रक्शन से बचने के लिए कुछ अतिरिक्त सुझाव – Some Additional tips to Avoid Distractions

  1. जब आपके पास कई इम्पोर्टेन्ट काम होते हैं तो उनमें से किसी एक या अधिक का भूल जाना आसान होता है। इसलिए To-Do List जरूर बनाएं।
  2. काम करने के दौरान सभी नोटिफिकेशन, अलार्म को ऑफ कर दें।
  3. बड़े टास्क को 45-50 मिनट के छोटे पार्ट में बांट दें, और हर टास्क के कंपलीट होने पर 10 मिनट का ब्रेक लें। इस बीच अपने मनपसंद काम करें।
  4. Noisy Environment में काम करते हैं तो नॉइस कैन्सलिंग हेडफोन्स का इस्तेमाल करें।
  5. काम करने के लिए सही जगह का चुनाव करें। अधिक गर्म या ठंडी जगह पर काम करने से बचें।
  6. वर्किंग टेबल को साफ-सुथरा रखें। अतिरिक्त या अनवांटेड चीजों को टेबल से अलग रख दें।
  7. अगर मोटिवेशन की छोटी खुराक मिलती रहे तो देर तक काम किया जा सकता है। इसलिए हर टास्क के पूरे होने पर खुद को रिवॉर्ड दें।
  8. हर दिन पर्याप्त नींद लें, ताकि आपकी एनर्जी बनी रहे, क्योंकि थकान आलस और डिस्ट्रक्शन का बड़ा कारण होती है।
  9. अपने अंतिम लक्ष्य को ध्यान में रखें।
  10. Internal Distraction को पूरी तरह खत्म नहीं किया जा सकता। इसे मैनेज किया जा सकता है। अतः नियमित ध्यान करें, अपने मस्तिष्क को काम करने के लिए तैयार करें।

Leave a Comment