सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें? – Subah Jaldi Uthne ki Aadat Kaise Dale?

सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें? – Subah Jaldi Uthne ki Aadat Kaise Dale? सुबह जल्दी कैसे उठें? बिना अलार्म के – Subah Jaldi Kaise Uthe? सुबह 4 00 बजे उठने की आदत कैसे डालें?


अपने आसपास आप देखते होंगे कि कुछ लोग अपने जीवन में बहुत ज्यादा खुश, ज्यादा स्वस्थ और ज्यादा प्रोडक्टिव होते हैं। वे अपने दिन भर के जरूरी कार्यो को जल्दी ही पूरा कर लेते हैं और दिन के बाकी समय का पर्याप्त आनंद लेते हैं।

जबकि अन्य लोग ज्यादा मेहनत करने के बावजूद काम को नहीं खत्म कर पाते और हमेशा चिंता में डूबे रहते हैं। इस तरह के लोगों में और ऐसे ही दुनिया के लगभग 95 प्रतिशत सफल लोगों में कुछ आदतें बहुत ही सामान्य होती हैं, उनमें से एक है सुबह जल्दी उठने की आदत। ऐसे लोग हमेशा सुबह जल्दी उठते हैं, और अपने दिन के सभी जरूरी कार्यो को पूरा कर लेते हैं।

आखिर सुबह जल्दी उठने में ऐसा क्या खास है? हम और आप सुबह जल्दी क्यों उठें? आज के इस आर्टिकल आप यही जानेंगे। साथ ही यह भी “सुबह जल्दी कैसे उठें?” और “सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें?” तो आइये जानते हैं-

सुबह जल्दी क्यों उठें? – Subah Jaldi Kyon Uthana Chahie?

पूरे दिन में सुबह का समय सबसे खूबसूरत और बेहतरीन समय होता है। अगर आप सुबह जल्दी उठते हैं तो आपके पास सबसे ज्यादा इच्छशक्ति (Willpower) होती है।

सुबह के वक्त आपकी एकाग्रता और शारीरिक ऊर्जा सबसे ज्यादा  होती है। अगर आप इस समय का सही उपयोग करते हैं तो आपके पास सबसे अच्छा शारीरिक स्वास्थ्य, एक अच्छा माइंडसेट और बेहतर प्रदर्शन करने की इच्छाशक्ति होती है।

लेकिन देर से उठने की वजह से हम सुबह जल्दी उठने से मिलने वाले सभी फायदों से वंचित रह जाते हैं। साथ ही अपनी प्रोडक्टिविटी, फोकस और दिन के समय को भी कम कर लेते हैं।

सुबह का सुहाना समय प्रकृति ने हमें अनमोल तोहफे के रूप में दिया है। इस तोहफे को आप गवानां नहीं चाहेंगे। शायद कोई भी नहीं।

सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें? /बिना अलार्म के सुबह जल्दी कैसे उठे? – Subah Jaldi Uthne ki Aadat Kaise Dale?

यदि आप चाहते हैं कि आप प्रतिदिन सुबह जल्दी उठ पाएं और यह आपके अंदर एक आदत के रूप में विकसित हो जाये जिससे आप प्रतिदिन बिना किसी मसक्कत के स्वतः ही समय पर उठ पाएं।

तो आज का यह लेख इसी विषय को लेकर है। इस लेख में आप जानेंगे कि प्रतिदिन सुबह जल्दी कैसे उठें? और इसे एक आदत के रूप में विकसित कर पाएं। तो आइये जानते हैं – सुबह जल्दी कैसे उठें?/ सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें?

1. सुबह जल्दी उठने का एक मजबूत कारण ढूढ़े।

सुबह जल्दी उठने के सवाल पर अक्सर लोग सोचते हैं कि हम जल्दी उठकर क्या करेंगे। अगर आप सुबह जल्दी उठकर अपना समय सोशल मीडिया पर या यूट्यूब पर कॉमेडी वीडियो या मूवी देखते हुए बिताते हैं तो जल्दी उठने का कोई फायदा नहीं।

यह न ही आपकी प्रोडक्टिविटी बढ़ाएगा और न ही आपको सफल बनाएगा। इसलिए जरूरी है कि हमारे पास कोई ऐसी वजह हो जिसके लिए हम उठ पाएं। क्योंकि एक मजबूत इच्छाशक्ति ही हमें किसी भी काम को करने के लिए प्रेरित करती है।

आप अपने दिन के सबसे महत्वपूर्ण कार्य को सुबह करने का समय निश्चित कर सकते है। आप किसी ऐसी स्किल को सीखने का समय सेट कर सकते हैं जो भविष्य में आपकी जॉब में या बिजनेस में काम आ सके।

एक मजबूत वजह आपको सकारात्मक दबाव (Positive Pressure) देता है। आपको सुबह जल्दी उठने के लिए मोटिवेट करता है। अपने उस Why को खोज निकालिए जो आपको हर दिन सुबह जल्दी उठने के लिए प्रेरित करे।

इसे भी पढ़ें: सुबह की अच्छी शुरुआत कैसे करें?

2. प्रतिदिन सुबह एक टाइम पर ही जागें।

अक्सर कहा जाता है कि सुबह जल्दी उठने के लिए जल्दी सोना भी चाहिए। लेकिन जल्दी उठने की आदत बनाने के लिए यह उतना महत्वपूर्ण नहीं है, जितना कि एक समय पर उठना।

आपके नींद लेने का समय एक-दो घंटे कम या ज्यादा हो सकता है क्योंकि आप प्रतिदिन एक बराबर थके नहीं होते इस कारण कभी-कभी नींद देर से आती है।

कम थकान होने पर कुछ कम नींद लेने पर भी शरीर को पर्याप्त आराम मिल जाता है। इसलिए रात में सोने के लिए बिस्तर पर उस समय जाए जब आपको नींद आ रही हो। लेकिन उठने का समय एक ही रखें। यदि आप 6 बजे सोकर उठते हैं तो प्रतिदिन 6 बजे ही जागें।

3. सुबह जल्दी उठना है तो दिन में कभी न सोएं।

दिन में सो लेने से शरीर को आराम मिल जाता है जो आपके रात की नींद को डिस्टर्ब करता है। ऐसा करने से आपको रात में समय पर नींद नहीं आती जिसके कारण आप देर से सोते हैं। और अब आगे क्या होगा शायद आप जान चुके होंगे।

जी हां, आप सही सोच रहे हैं, सुबह आंखे देर से खुलेगी। अगर आप सुबह उठने की आदत बना रहे हैं तो आपको अपने दिन के पावर नैप से समझौता करना ही पड़ेगा।

इससे आपको फायदा यह मिलेगा की रात में नींद जल्दी आ जायेगी। आप समय पर सो जाएंगे, जिससे आप अगली सुबह अपने निर्धारित समय पर उठ पाएंगे।

यह प्रक्रिया कुछ दिन दोहराने के बाद आपकी बॉडी क्लॉक नियमित हो जाएगी और आपको समय पर नींद भी आएगी और जल्दी उठ भी पाएंगे।

4. आदत बनाने के लिए निरंतरता बनाये रखें।

किसी भी नई आदत को विकसित करने के लिए हमें उस प्रक्रिया को बार बार दोहराने की आवश्यकता होती है। आदत के विषय में बहुत से मत हैं कुछ लोग 21 दिन की बात बताते हैं, कुछ लोग 40 दिन की।

लेकिन यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के रिसर्चर बताते हैं कि किसी भी नई आदत को पूर्ण रूप से विकसित करने में कुल 66 दिन का समय लगता है।

  • अगर आप किसी चीज को लगातार 66 दिन तक अभ्यास करते हैं तो यह एक एक आदत के रूप में विकसित हो जाती है क्योंकि मस्तिष्क प्रक्रिया को दोहराने पर उसे याद करने के लिए नए न्यूरल पाथ बनाता है। जिसे हम आदत के रूप में जानते हैं।
  • अगर आप चाहते हैं कि आप हर दिन बिना किसी मुश्किल के सुबह जल्दी उठ सकें तो अपनी सभी मुश्किलों और आलस को छोड़कर प्रतिदिन एक निश्चित समय पर उठें।
  • अगर आप सुबह 5 बजे की आदत बना रहे हैं तो 5 बजे ही उठें न कि 05:10, 05:20 या 05:25 पर। अगर आप बार-बार अलार्म का स्नूज बटन दबाते हैं तो आपकी नींद डिस्टर्ब होती है और इसके गुणवत्ता व पैटर्न में बदलाव आ जाता है और उठने के बाद आप लेजीनेस महसूस करेंगे।
  • सिर्फ एक अलार्म लगाएं और बजने पर तुरंत उठ जाएं।

5. अगले दिन की प्लानिंग रात में सोने से पहले कर लें।

रात में सोने से पहले अपने अगले दिन की प्लानिंग कर लेने से आपको अपने दिन की दिशा मिल जाती है। अगर आपको अगले दिन के कार्य पहले से पता नहीं हैं तो पिछले दिन के बाकी कार्यो को भी To Do List में शामिल कर लें।

अपने सबसे जरूरी कार्यो को सुबह का समय दें उन्हें पूरा करने के लिए। इससे फायदा यह होगा कि आप उसे जल्दी पूरा करने के लिए जरूर उठेंगे।

दिन की प्लानिंग के साथ ही अपने सुबह के 2 से 3 घंटे के समय की प्लानिंग जरूर करें कि आप सुबह उठ कर सबसे पहले क्या करेंगे। यह उसी तरह काम करता है। जैसे आपको किसी जरूरी काम से बाहर जाना है।

किसी अच्छी जगह घूमने जाना है या किसी काम के बारे में आप जितने बजे उठने के लिए सोच कर रात में सोते हैं तो आपकी नींद ठीक उसी टाइम टूट जाती है।

इसलिए अपने सुबह को सही से प्लान करें। जल्दी उठने के लिए उत्साहित रहें आपकी नींद आपके सोचे हुए टाइम पर जरूर खुलेगी। और आप एक अच्छे दिन की शुरुआत कर पाएंगे।

6. एक स्वस्थ मॉर्निंग रिचुअल अपनाएं।

एक अच्छी सुबह की दिनचर्या आपको हर दिन सुबह जल्दी उठने के लिए प्रेरित करती है। साथ ही आपके समय का सही उपयोग करने में सहायक होती है।

इसके लिए आप दिन के पहले घंटे को 20 मिनट के तीन भाग में बांट कर तीन अलग-अलग काम कर सकते हैं। जैसे पहले 20 मिनट व्यायाम के लिए। दूसरे 20 मिनट में आप मेडिटेशन कर सकते हैं और अपने दिन को प्लान कर सकते हैं।

और अंत के 20 मिनट में आप कुछ नया पढ़ने के लिए रख सकते हैं। जैसे कोई सेल्फ-हेल्प या मोटिवेशनल किताब या फिर ऑडियोबुक सुन सकते हैं। इस तरह से आप हर दिन एक अच्छी सुबह की शुरुआत कर सकते हैं।

7. सुबह जल्दी उठने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

सुबह जल्दी उठने के लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए अन्यथा आपके दोबारा से सोने का चांस हो सकता है।

  • पर्याप्त नींद लेने के लिए रात में जल्दी सोये। अगर आप रात में ज्यादा देर तक काम करते रहेंगे या देर से सोएंगे तो आपकी नींद पूरी नहीं होगी और आप सुबह समय पर उठ नहीं पाएंगे।
  • ब्लू लाइट से दूरी बनाएं। रात में सोने से लगभग 1 से 1:30 घन्टे पहले फोन और टीवी को बंद कर दें। साथ ही रूम की रोशनी भी कम कर दें। इससे आपको नींद जल्दी आएगी।
  • अलार्म बजने पर स्नूज बटन न दबाएं। और इसे अपने बेड से कुछ दूरी पर रखें। इससे बंद करने के लिए आपको उठना पड़ेगा और आप जाग जायेंगे।
  • सुबह उठने के बाद सबसे पहले रूम की लाइट जलाएं और खिड़की और दरवाजे खोल दें। इससे बाहर की रोशनी आएगी जो प्राकृतिक रूप से जागने में मदद करेगी। इससे बॉडी क्लॉक के नियमित होने में भी मदद मिलती है।
  • उठने के तुरंत बाद अपने बिस्तर को मोड़कर रख दें। यह आपको दोबारा बिस्तर पर जाने से रोकने में सहायक होगा।
  • पानी पिएं। पानी पीने से आप फ्रेस और एक्टिव हो जाते हैं और यह आपको पूरी तरह जगाने में मदद करता है।

रोज सुबह जल्दी कैसे उठें? – Subah Jaldi Uthne ki Aadat Kaise Dale?

निष्कर्ष:

“सूबह जल्दी कैसे उठें? – Subah Jaldi Uthne ki Aadat Kaise Dale?” यह सवाल सुनने में जितना मुश्किल है। करने में उतना ही आसान है। यह सवाल सिर्फ लोगों को गुमराह करने के लिए है। अक्सर हम सब किसी भी काम को नकारात्मक तरीके से सोच कर उसे और ज्यादा मुश्किल बना देते हैं।

अगर आप ठान लें तो कोई भी काम आपके लिए कठिन नहीं। बस एक बार इस पर विचार करने की आवश्यकता है और उसे पूरा करने की देरी है। आप सुबह जल्दी उठने के बारे में सोच रहें हैं।

यह बहुत अच्छी बात है। उठने का समय निश्चित करिए। और इसे करने के लिए उत्साहित रहिए। आप जरूर अपने तय किये हुए समय पर उठ जाएंगे।

यह कुछ सुझाव हैं आपके लिए जो आपके- ‘सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें?’ सवाल की गुत्थी सुलझाने में मदद करेंगे। और आप इसे अपने जीवन में एक आदत के रुप में अपना पाएंगे।

आशा है आपको यह लेख ‘सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें?’ पसंद आया होगा। अगर यह सुझाव मददगार साबित होते हैं तो हमें कमेंट में जरूर बताइएगा।

धन्यवाद।

Leave a Comment