गर्मियों में हेल्दी और फिट रहने के 10 टिप्स – 10 Best Summer Health Tips in Hindi

Summer Health tips in Hindi : गर्मी के मौसम के स्वस्थ और फिट कैसे रहें?, जानें गर्मियों में हेल्दी और फिट रहने के 10 टिप्स

गर्मी का मौसम आते ही बच्चों के मौज-मस्ती के दिन शुरू हो जाते हैं। यह मौसम मनोरंजन के साथ-साथ कई परेशानियों को भी अपने साथ लाता है। गर्मी का मौसम खानपान की आदतों के अलावा दिनचर्या में बदलाव के लिए भी जाना जाता है। तेज धूप की तपिश और गर्म हवाएं आलस्य के साथ ही लोगों में कई बीमारियां जैसे लू लगना, डिहाइड्रेशन, पेट में गड़बड़ी, पसीने के कारण त्वचा रोग की समस्या, सनबर्न आदि को उत्पन्न करने का कारण होती हैं।

इस मौसम में स्वस्थ रहने के लिए और इसका भरपूर आनंद लेने के लिए हमें कुछ विशेष बातों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है। अन्यथा आप इस मौसम में उत्पन्न होने वाली बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। इस लेख में आप गर्मी के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स (Summer Health Tips) के बारे में जानेंगे। इसे अपनाने से आप इस मौसम में स्वस्थ, और फिट रह सकते हैं।

गर्मी के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए टिप्स (Summer Health tips in Hindi)

1. स्वच्छ और हल्का भोजन करें।

how to stay fit in summer in hindi

अन्य मौसम की अपेक्षा गर्मियों में हमें अपने खानपान की आदतों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है। क्योंकि कभी भी और कुछ भी खाने की हमारी आदतें इस मौसम में नुकसानदेह साबित होती हैं। गर्मी में हमेशा स्वच्छ, ताजा एवं घर का बना भोजन की खाएं। भारी भोजन करने से आपको बचना चाहिए। बजाय इसके आप हल्का भोजन करें और दिन में कई बार में खाएं।

अधिक मात्रा में और ज्यादा कार्बोहाइड्रेट और वसा युक्त भोजन करने से आपके शरीर में अधिक ऊष्मा यानी गर्मी उत्पन्न होती है। इसलिए मौसमी फल और सब्जियों का अधिक सेवन करें। ऐसी चीजें जिनमें पानी की मात्रा अधिक होती है जैसे- तरबूज, खरबूजा, टमाटर, संतरा, खीरा आदि को भी अपने डाइट में जरूर शामिल करें।

और पढ़ें: स्वस्थ खानपान की अच्छी आदतें

2. मसालेदार व तली भुनी चीजे खाना अवॉयड करें।

वैसे तो मसालेदार व तली-भुनी चीजें खाना किसी भी मौसम के लिए अच्छा नहीं होता। परन्तु यदि आप इनके शौकीन हैं तो इस मौसम विशेष ध्यान रखना चाहिए। अधिक मसालेदार भोजन शरीर में गर्मी पैदा करते हैं। साथ ही इससे पसीना भी अधिक आता है।

अधिक पसीना निकलने से शरीर में डीहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। फास्टफूड के सेवन से पेट में भारीपन महसूस होने लगता है और खाना भी देर से पचता है। यदि आप गर्मी में बीमारियों से बचना चाहते हैं तो इस प्रकार के भोजन से सदैव दूर ही रहें।

3. पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें।

इस मौसम की प्रमुख समस्या है डिहाइड्रेशन, और इस समस्या से बचने का सबसे सटीक उपाय है कि आप पर्याप्त मात्रा से पानी और तरल पदार्थों का नियमित सेवन करते रहें। पानी कम पीने से आपको थकान महसूस होने लगता है, साथ ही उलझन, सिरदर्द, तनाव की समस्या भी होती है।

गर्मियों में पेट मे गड़बड़ी, पेटदर्द, अपच का मुख्य कारण डिहाइड्रेशन यानी पानी की कमीं ही है। अतः आप पानी के साथ ही इसके अन्य स्रोत जैसे फलों के रस, छाछ, तरबूज, संतरा आदि का भी सेवन करें। अधिक ठंडा, फ्रिज का पानी, कोल्डड्रिंक पीने से परहेज करें। यह सेहत के लिए नुकसानदेह होता है।

और पढ़ें:  बॉडी को हाइड्रेट कैसे रखें?

4. बाहर की चीजों को खाने से बचें।

यदि आपको भी पसंद है बाहर का खाना तो अब हो जाएं सावधान, क्योंकि यह आपके पेट को खराब कर सकता है। सड़क किनारे मिलने वाले खाद्य पदार्थों के दूषित होने की संभावना अधिक होती है। इसके अलावा यदि भोजन को संरक्षित करने की उचित व्यवस्था नहीं है तो यह जल्दी ही खराब हो सकता है।

इस तरह लंबे समय से तैयार और खराब भोजन करने से आपके पेट में संक्रमण हो सकता है। इसलिए बाहर का खाना, फास्टफूड व पैकेट बंद भोजन की बजाय घर पर बने ताजे खाने को अधिक प्राथमिकता दें।

5. साफ सफाई का रखें विशेष ध्यान

हर मौसम की तरह गर्मियों में भी साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। धूप और धूल के इस मौसम में सफाई को अनदेखा करने पर जल्दी ही बैक्टीरिया के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। दैनिक जीवन में प्रयोग की जानी वाली चीजों के अलावा आस-पास भी सफाई रखें।

फ्रिज, पंखे, खिड़कियों व पर्दों को समय-समय पर साफ करते रहें। तेज धूप और गर्मी के कारण इस मौसम में पसीना अधिक आता है। ऐसे में यदि शरीर की उचित साफ-सफ़ाई न कि जाये तो त्वचा में इंफेक्शन हो सकता है।

नियमित स्नान के साथ ही दिन में कई बार हाथ-पैर व चेहरे की सफाई अवश्य करें। गर्मी में धूल अधिक उड़ती है। इसलिए खाना पकाने से पहले बर्तनों को साफ पानी से अच्छी तरह अवश्य धुलना चाहिए। फल एवं सब्जियों को अच्छी तरह धोने के बाद ही इस्तेमाल करें।

6. बहुत जरूरी हो तभी बाहर जाएं।

शरीर को झुलसा देने वाली गर्मी में बाहर निकलना बीमारी को न्योता देने जैसा होता है। इसलिए बाहर तभी जाएं जब बहुत आवश्यक हो। हमेशा कोशिश करनी चाहिए कि अपने जरूरी बाहरी कार्य 10 से 11 बजे तक खत्म कर लें, अथवा दोपहर के बाद धूप कम होने पर करें। किसी कारणवश यदि आप बाहर जाएं तो सम्पूर्ण शरीर को ढक कर रखें।

डिहाइड्रेशन से बचने के लिए बाहर निकलने से पूर्व एक से दो गिलास पानी अवश्य पियें, और साथ में पानी की एक बोतल अवश्य रखें। बाहर धूप में रहकर आने के तुंरत बाद ही पानी पीने से बचें। इससे सर्दी या बुखार हो सकता है। कुछ समय आराम करने के बाद ही पानी आदि का सेवन करें।

7. बाहर जाते समय रखें धूप और धूल का ध्यान।

कड़ी धूप और तेज हवाओं के साथ ही उड़ती धूल के लिए भी यह मौसम जाना जाता है। अतः बाहर निकलते समय सनग्लास लगाना भी आंखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहता है।

इस मौसम में सूती कपड़े शरीर को ठंडक प्रदान करते हैं। इन्हें पहनें। इसके अलावा कपड़े हमेशा ढीले-ढाले ही पहनना चाहिए। क्योंकि चुस्त कपड़ों में पसीना अधिक आता है और त्वचा के छिलने की आशंका होती है।

गर्मियों में रंग-बिरंगे व काले रंग के कपड़ें पहनकर कभी भी बाहर न जाएं। ये सूर्य की ऊष्मा व प्रकाश को अवशोषित कर आपके शरीर को गर्म कर देते हैं। इसलिए सफेद, स्काई ब्लू, ग्रे अथवा हल्के रंगों के कपड़ें पहनें।

8. स्किन केयर है बहुत जरूरी।

गर्मी आते ही त्वचा की समस्यायें बढ़ जाती है। कील-मुंहासे घमोरियां, सनबर्न व टैनिंग की समस्याएं लगभग हर किसी को शताने लगती हैं। सवेंदनशील त्वचा वाले लोगों को त्वचा में एलर्जी होने का अधिक भय होता है।

ऐसे में उचित देखभाल के साथ ही शरीर में ठंडक बनाये रखना बहुत आवश्यक होता है। गर्मी में नर्म, सूती व ढीले-ढाले कपड़े से अधिक राहत मिलती है। त्वचा को सीधे धूप की सपंर्क में लाने से बचें। इसके लिए पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनना अच्छा रहेगा।

बाहर निकलने से पूर्व त्वचा पर 30 SPF या उससे अधिक का सनस्क्रीन लोशन का प्रयोग अवश्य करें। चेहरे को धुलने के पश्चात पानी को पोछने की बजाय इसे स्वतः सूखने देना चाहिए। यह त्वचा को नम रखने में सहायक होता है।

9. व्यायाम करें अथवा टहलने जाएं।

इस मौसम में लोगों का अधिकांश समय घर के भीतर ही बीतता है। तापमान बढ़ने के कारण मांसपेशियों में असहजता का भी अनुभव होता है। इसलिए शरीर की मूवमेंट यानी व्यायाम करना आवश्यक है। इसके लिए सुबह सूरज ऊपर चढ़ने से पहले अथवा सूरज ढलने के बाद कुछ मिनट व्यायाम अवश्य करें। बाहर खुली हवा में टहलना भी बहुत अधिक लाभकारी होता है।

यदि नियमित व्यायाम की आदत है तो कुछ बातों का खास ख्याल रखें जैसे-

  1. व्यायाम के तुरंत बाद अति ठंडक वाली जगह या एसी में न जाएं। तापमान में अचानक बदलाव से शरीर में दर्द की समस्या हो सकती है।
  2. कम से कम तीस मिनट तक रुकें, शरीर के तापमान को स्वतः ही सामान्य होने दें। उसके बाद ही स्नान या शॉवर के लिए जाएं।
  3. व्यायाम के वक्त पसीना ज्यादा निकलता है। इसलिए अपने साथ पानी की बोतल जरूर रखें। बीच-बीच में प्यास लगने पर पानी पीते रहें।
  4. एक्सरसाइज के समय हल्के एवं ढीले ढाले कपड़े पहनें। इससे हवा कपड़ों के भीतर तक पहुंचकर शरीर को ठंडक पहुँचाती है।

10. पर्याप्त नींद अवश्य लें।

यह एक और समस्या है जो लोगों को परेशान करती है। तेज गर्मी के कारण भरपूर नींद लेना काफी मुश्किल होता है। यदि रात्रि में बिजली चली जाय, तब तो यह समस्या और भी बिकट हो जाती है। इन्वर्टर का क्या भरोसा कब जवाब देदे। क्योंकि इस मौसम में बिजली का गुल होना भी आम होता है। परन्तु नींद भी तो जरूरी है।

दोस्तों यदि रात्रि में आपकी नींद ठीक से पूरी नहीं होती तो दिन पॉवरनैप लें। क्योंकि यदि आपकी नींद पूरी नहीं होती तो आप पूरे दिन आलस्य का अनुभव करेंगे और आपके लिए किसी भी काम पर फोकस करना मुश्किल हो जाएगा।

और पढ़ें: रात को अच्छी नींद लाने के उपाय

निष्कर्ष:

गर्मियों में बढ़े तापमान की वजह से डिहाइड्रेशन, पेट में गड़बड़ी, त्वचा में एलर्जी, सनबर्न आदि समस्याएं आम हो जाती है। उचित खानपान, साफ-सफाई और देखभाल से इन समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। इस लेख, गर्मियों में स्वस्थ कैसे रहें? (Summer Health tips in Hindi) में बताए गए सुझाव आपको इस मौसम में सेहतमंद रहने में मदद करेंगे। आशा है यह आपको पसंद आया होगा। आप अपनी राय और सुझाव हमारे साथ जरूर लिख कर भेजें, इस लेख (Summer Health tips) को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।
धन्यवाद।

Leave a Comment